वकील बनने के फायदे और नुकसान, योग्यता, नियम सब कुछ जाने

WhatsApp Group (Join Now) Join Now
Telegram Group (Join Now) Join Now

दोस्तों आज की इस पोस्ट में हम जानेंगे की आप अगर वकील बनाना चाहते है तो वकील बनने के क्या फायदे और नुकशान होते है और वकील बनने की योग्यता कितनी चाहिए उसके बारेमे बात करेंगे।

दोसतो वकील बनाने के लिए कुछ नियमो को अनुसरण करना होता है उसके बारेमे भी हम जानेंगे।

दोस्तों वकील एक ऐसा व्यक्ति होता है जिसको किसी भी देश के सारे कायदे और कानून की जानकारी होती है। वकील बनाने से आप देश की क़ानूनी व्यवस्था को आसानी से समाज शकते है।

वकील बनने के नुकसान

दोस्तों अगर आप वकील की पढाई करके अगर आप वकील बनने की सोच रहे है तो आप को वकील बनने से पहले उसके कुछ नुकसान को जान लेना चाहिए

अगर आप वकील बनने के नुकशान को जान लेते है तो आपको अपना डिसीजन लेने में सहायता होगी।

  • वकील बनना मुश्किल है और लंबा समय लगता है।
  • LLB की डिग्री के बाद 3 साल तक अभ्यास करना पड़ता है।
  • शुरुआत में कमाई बहुत कम होती है। अपना प्रैक्टिस स्थापित करने में समय लगता है।
  • काम का बोझ अधिक होता है और तनाव रहता है।
  • केस हारने का खतरा रहता है जो आत्मविश्वास पर असर डाल सकता है।
vakil kaise bane

वकील बनने के फायदे

दोस्तों हमने वकील बनने के नुकशान के बारेमे जाना अगर आप उस नुकशान से निपट शकते है तो आपक को आगे वकील बनने के फायदे और लाभ के बारेमे भी अवश्य जानना चाहिए।

वकील बनने के कुछ फायदे इस प्रकार हैं:

  • सम्मान: वकील को समाज में ऊँचा स्थान और सम्मान मिलता है।
  • अच्छी कमाई: कुछ साल अभ्यास करने के बाद अच्छी कमाई होने लगती है।
  • चुनौतीपूर्ण काम: वकील का काम बेहद चुनौतीपूर्ण और रोमांचक होता है।
  • स्वतंत्रता: अपना प्रैक्टिस होने से काम करने की अधिक स्वतंत्रता मिलती है।

वकील बनने के लिए क्या पढ़ना पड़ता है

दोस्तों अगर आपने वकील बनने का निर्णय ले लिया है तो आपको यह बात भी जान लेनी चाइये की वकील बनने के लिए आखिर कितनी पढाई करनी होती है। सबसे वकील बनने के लिए निम्नलिखित चीज़ें पढ़नी पड़ती हैं:

  • स्नातक की डिग्री: कानून में स्नातक की डिग्री (LLB)।
  • विधि संहिता: भारतीय दंड संहिता, भारतीय साक्ष्य अधिनियम आदि।
  • कानून की विभिन्न शाखाएँ: सिविल, क्रिमिनल, टैक्स, कारपोरेट आदि शाखाओं से संबंधित कानून।
  • मुकदमेबाजी के नियम: सिविल प्रक्रिया संहिता और दंड प्रक्रिया संहिता के बारे में जानकारी होनी चाहिए।
  • न्यायशास्त्र: नैतिकता और कानूनी तर्क के सिद्धांतो को समझने के लिए न्यायशास्त्र का अध्ययन करना पड़ता है।

वकील बनने के लिए योग्यता

आखिर वकील कौन बन शाक्त है और वकील बनने के लिए क्या क्या योग्यताए चाहिए उसकी सूचि हमने आपको निचे दी है। इस योग्यताओ को पढ़ने के बाद ही आप अपना निर्णय ले।

वकील बनने के लिए निम्नलिखित योग्यताएँ होनी चाहिए:

  • कानून में स्नातक की डिग्री – LLB Degree
  • राज्य बार काउंसिल द्वारा आयोजित होने वाली वकीलों के लिए परीक्षा उत्तीर्ण करनी होगी।
  • कम से कम 2 साल की अवधि के लिए किसी अभ्यासरत वकील के पास प्रशिक्षु वकील के रूप में काम करना होगा।
  • 21 वर्ष से कम उम्र का कोई व्यक्ति वकील नहीं बन सकता।
  • अच्छा वकील बनने के लिए कानूनी विषयों के अलावा सामाजिक विज्ञान, अर्थशास्त्र और लोक प्रशासन जैसे विषयों की भी जानकारी होनी चाहिए।
  • वकील बनने के लिए आपको इंटरव्यू में पूछे जाने वाले प्रश्नो का उत्तर पता होना चाहिए।

वकील के नियम

वकीलों को कुछ नियमों और नैतिक संहिता का पालन करना होता है, जिनमें शामिल हैं:

  • न्यायालय के प्रति ईमानदारी: वकील को अदालत के प्रति पूरी ईमानदारी बरतनी चाहिए और कभी भी झूठ नहीं बोलना चाहिए।
  • गोपनीयता की पालना: वकील को अपने क्लाइंट की जानकारी को गोपनीय रखना चाहिए।
  • हितों की टकराव से बचना: एक ही मामले में दोनों पक्षों का प्रतिनिधित्व नहीं कर सकते।
  • शुल्क के लिए पारदर्शिता: फीस का ब्योरा स्पष्ट रूप से क्लाइंट को बताना चाहिए।
  • निरंतर विकास: वकील को कानून और न्यायिक प्रक्रियाओं के बारे में अपनी जानकारी को अपडेट रखने के लिए सतत अध्ययन करते रहना चाहिए।
vakil banane ke fayde

वकील के अधिकार

वकील के कुछ मूलभूत अधिकार इस प्रकार हैं:

  • प्रैक्टिस करने का अधिकार: वकील अदालत में अपने क्लाइंट का प्रतिनिधित्व कर सकता है और उनकी ओर से कानूनी तर्क दे सकता है।
  • अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता: वकील किसी भी मामले में अदालत में अपने तर्क रखने के लिए स्वतंत्र है।
  • गिरफ़्तारी से सुरक्षा: अदालत की अनुमति के बिना वकील को गिरफ़्तार नहीं किया जा सकता।
  • फीस चार्ज करने का अधिकार: वकील अपने क्लाइंट से कानूनी सेवाओं के लिए शुल्क लेने का हकदार है।
  • संघ बनाने का अधिकार: वकील अपने हितों की रक्षा के लिए बार काउंसिल जैसे संगठन बना सकते हैं।

वकील बनने के लिए कितना पैसा लगता है

वकील बनने के लिए आपको लगभग 2-5 लाख रुपये का खर्च करना पड़ सकता है। इसमें शामिल है:

  • डिग्री LLB के लिए: निजी कॉलेज से LLB करने पर लगभग 3-5 लाख का खर्च आता है
  • प्रवेश फीस: राज्य बार काउंसिल द्वारा वकील बनने के लिए ली जाने वाली परीक्षाओं के लिए 2000-5000 रुपये तक की फीस
  • अन्य छोटे खर्च: कुछ सैट और नवीनीकरण शुल्क, पुस्तकें आदि पर 5000-10000 रुपये तक अन्य खर्च

इसके अलावा, अभ्यास के कुछ सालों तक आय भी कम होती है। लेकिन बाद में अच्छी कमाई होने लगती है।

वकील बनने के लिए कितनी उम्र होनी चाहिए

वकील बनने के लिए आवश्यक न्यूनतम आयु 21 वर्ष है।

सबसे पहले आपको कानून में स्नातक (LLB) की डिग्री हासिल करनी होगी, जिसमें आमतौर पर कम से कम 3 वर्ष लगते हैं।

इसके बाद, आपको वकालत का अभ्यास करते हुए कम से कम 2 वर्षों तक एक अभ्यासरत वकील के साथ प्रशिक्षु के रूप में काम करना पड़ता है।

इस प्रकार, 23-24 वर्ष की आयु में वकील बनने के लिए आदर्श समय होता है।

Leave a Comment